Micromax Co-Founder Rahul Sharma Success Story in Hindi || Rahul Sharma Biography in Hindi - Success Story In Hindi

March 07, 2018
Micromax Co-Founder Rahul Sharma Success Story in Hindi  || Rahul Sharma Biography in Hindi - Success Story In Hindi


गरीबी से इंडियन mobile कंपनी माइक्रोमैक्स क़ामयाबी तक का सफर




       Hye Dosto आज हम आपके सामने बात कर रहे है Micromax company के CO-Founder Rahul Sharma के बारे मे बात करेंगे आज राहुल शर्मा एक बड़ा नाम है लेकिन हमेशा से ऐसे नहीं था। आज वे महीने के करोड़ों कमाते है आज राहुल शर्मा एक Luxurious लाइफ जीते है Rolls-Royce के शौकीन है लेकिन शुरुवात मे वो एक साधारण से परिवार के लड़के थे और आज वो smartphones बनाने वाली टॉप की कंपनी Micromax के Founder है 
तो दोस्तों Rahul की Succuss को हम शुरू से जानते है की किस प्रकार एक छोटे परिवार मे जन्म लेकर आज हज़ारों करोड़ तक के सफर के पीछे की success Story को शुरू से जानते है।




Micromax Co-Founder  Rahul Sharma Success story in Hindi



      तो कहानी की शुरुआत होती है 5 January,1979 जब राहुल शर्मा जन्म हुआ था और वे एक  school teacher के बेटे है उनकी शुरुआत की पढ़ाई नागपुर में हुई है और बाद मे उन्होंने शर्मा ने सास्कचेवान विश्वविद्यालय से बैचलर ऑफ commarce में स्नातक की डीग्री प्राप्त की। वह नागपुर विश्वविद्यालय से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री धारक भी हैं।

Rahul Sharma को टेक्नोलॉजी मे जुड़ाव तब शुरू हुआ जब उनके father ने उनको computer गिफ्ट किया | PC use करने के बाद उनका technolgy से  जुड़ाव शुरू  हुआ।







और बाद में उन्हें एक manufacturing company में नौकरी मिली और कुछ टाइम काम करने के बाद कंपनी में से नौकरी छोड़ दी क्योंकि किस्मत को तो कुछ और ही मंज़ूर था।

बाद में उन्होंने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर year 2000 मे Micromax software launch की Starting मे यह एक software company थी फिर बाद मे embedded प्लेटफॉर्म्स पर enterprise-resource ट्रेनिंग शुरू की जिसने कम्प्यूटर्स, सॉफ्टवेयर और बाद मे फिक्स्ड वायरलेस पीसीओ बेचे। संयोग से machine to machine बिजनेस में Nokia Micromax का partner बन गया। Micromax ने पहले Nokia के लिए एवं फिर Airtel के लिए Public phones (PCO’s) sell किये।|


Rahul Sharma And His Wife Asin Thottumkal Marriage Image



Micromax Co-Founder Rahul Sharma Success Story in Hindi






राहुल शर्मा जब PCO का business देख रहे थे तब उन्होंने कुछ ऐसा नोटिस किया जिसके बाद उनकी लाइफ बिलकुल चेंज हो गयी | सन 2007 मे उनका West Bengal के Behrampur village मे जाना हुआ तो उन्होंने देखा लोगो को ज्यादा समय power नहीं आने की वजह से truck की battery से PCOs को चलना पड़ रहा था। हर रात को PCO owner को 12 Km दूर तक battery को ले जाना पड़ता और फिर रात भर battery को charge करके वापस अपने village Behrampur आ कर PCO चलता। इसके साथ साथ उनका interest और बड़ा गया जब उन्होंने देखा की पुरे दिन भर PCO वाले के पास phone करने वालो की लंबी line होती थी और वो मन मर्ज़ी के पैसे चार्ज करता था।

इस बात को ध्यान मे रखते हुए Rahul Sharma ने अपने दूसरे co-founders को path change करने के लिए convenience किया और long battery backup के साथ Indian Mobile phone लांच करने की सोची |  
इसके बाद मात्र 2150 रुपए में Micromax ने one month के battery backup वाला phone लॉन्च किया। देश के ग्रामीण area में मात्र 10 दिन में 10 हजार का पहला लॉट बिना विज्ञापन बिक गया। इसके साथ माइक्रोमैक्स को दिशा मिल गई- ग्राहक की जरूरत जानो और उसे पूरा करो। Micromax shifted their focus to making and selling Mobile phones | राहुल शर्मा, राजेश अग्रवाल, विकास जैन और सुमित अरोड़ा। इन चार दोस्तों ने मिलकर माइक्रोमैक्स की काया पलट दी।

इसके बाद माइक्रोमैक्स ने पेश किया dual SIM mobile phone, यूनिवर्सल रिमोट कंट्रोल फोन, अफोर्डेबल स्मार्ट फोन। राहुल कहते हैं, साधारण तकनीक के ये नए फीचर वाले हैंडसेट्स दिग्गज कंपनियों ने लाॅन्च नहीं किए थे। उनके हैंडसेट्स में कई फीचर्स थे, पर उनमें से पांच फीसदी ही ग्राहक काम में लेते थे। Micromax आज 70 मॉडल्स के 3जी एंड्राॅइड स्मार्ट फोन, टैबलेट्स, एलईडी टीवी बना रहा है |

फोर्ब्स मैग्जीन की 40 वर्ष से कम आयु के शक्तिशाली कारोबारियों की सूची में शामिल राहुल शर्मा ने सैमसंग, नोकिया व एलजी से एक चौथाई मूल्य पर माइक्रोमैक्स मोबाइल फोन लाॅन्च कर स्मार्ट-फोन दिग्गजों की नींदें उड़ाई हैं।



·        Shahrukh Khan Quotes

·        Jack Ma Quotes  

·        Chanakya Quotes

·        Bill Gates Quotes



Rahul Sharma कहते हैं कि Micomax के लिए बहुत easy स्ट्रैटजी अपनाई गई। चीन में मजदूरी की दर कम होने के कारण outsourcing का नया दौर कायम किया गया। कंपनी ने खुद को बड़ा बनाने के लिए चीन का सहारा लिया। Starting में company ने चीनी हैंडसेट की तरह ही phone भारतीय मार्केट में उतारने शुरू किए हुआ ये कि माइक्रोमैक्स को भारतीय न समझकर लोग एक चाइनीज कंपनी समझने लगे। फिर भी भारतीय बाजार में कंपनी का सिक्का जम गया। माइक्रोमैक्स को सबसे बड़ी सफलता मिली उसके हैंडसेट ब्लिंग के साथ। यह महिलाओं के लिए डिज़ाइन किया सबसे खास हैंडसेट था जिसे कम कीमत में इंडियन मार्केट में उतारा गया था।




राहुल बताते है की उनके पिता ही उनकी लाइफ के true inspiration एवं real हीरो है और कहते है की वो आज जहाँ है उसका पूरा क्रेडिट मेरे father को जाता है।






Micromax Co-Founder Rahul Sharma Success Story in Hindi  || Rahul Sharma Biography in Hindi - Success Story In Hindi





Micromax Co-Founder Rahul Sharma Success Story in Hindi  || Rahul Sharma Biography in Hindi - Success Story In Hindi





उम्मीद है आपको Micromax के Co-Founder Rahul Sharma की Success Story अच्छी लगी हो तो प्लीज अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर ज़रूर करे ताकि सभी तक ये जानकरी पहुँच सकें।

(यह Article मेरी इंटरनेट की रिसर्च पर आधारित है, यह 100% ठीक हो उसकी मैं गारंटी नहीं ले सकता।)

अपना बहुमूल्य समय देन के लिए आपका बहुत-बहुत

धन्यवाद !


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »